यह है समय से पहले बालों के झड़ने और सफेद होने का प्रमुख कारण। इन प्राकृतिक उत्पादों से रोकें बालों की सारी समस्याएं

बालों का बहुत ज्यादा झड़ना, दो मुंहे बाल, डैंड्रफ और सफेद बाल होने के संभावनाएं बहुत बढ़ जाती हैं, जब आप उन्हें सेट करने के लिए हेयर जैल, वैक्स स्प्रे या सीरम जैसे केमिकल प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करते हैं। सबको अच्छा लगता है कि बाल सेट रहे नैचुरली शाइन भी करें। फिर चाहे कॉलेज जाना हो, कोई फंक्शन या शादी हो, लेकिन कहीं न कहीं डर भी रहता है कि बाल डैमेज ना हो जाएं। 

इसलिए इस लेख में मैं आपसे शेयर करूंगा कुछ ऐसे नेचुरल प्रोडक्ट्स जिनसे आपके बाल सेट भी रहेंगे, उनमे नेचुरल शाइन रहेगी बालों में लेकिन नुकसान नहीं होगा। आइए तो फिर बिना किसी देरी के शुरू करते हैं। 


Stop hair fall and premature greying of hair.


बालों के झड़ने और सफेद होने की सबसे बड़ी वजह

Disclaimer : दोस्तों, सबसे पहले मैं यह स्पष्ट करना चाहता हूं कि जो भी प्रोडक्ट्स मैं आपको इस लेख में रिकमेंड करूंगा वो स्पॉन्सर्ड नहीं होंगे। मुझे किसी ब्रांड ने पैसे नहीं दिए, मैं ना किसी ब्रांड के साथ हूं और ना ही खिलाफ। 


6. हेयर जैल

Hair Gel


बालों को सेट करने के लिए और इंस्टेंट शाइन के लिए जो सबसे ज्यादा पॉपुलर कोई प्रोडक्ट है वो है हेयर जैल। बाल कैसे भी हो हेयर जैल लगाने से जैसे चाहो वैसे सेट हो जाते हैं। एक वेट लुक मिलता है बालों को और पूरे दिन बाल अपनी जगह से हिलते नहीं हैं। हिलते इसलिए नहीं क्योंकि स्ट्रांग होल्ड प्रोवाइड करने के लिए बहुत स्ट्रांग केमिकल का इस्तेमाल किया जाता है कमर्शियल हेयर जेल में। 

इन जैल को अगर आप लगातार इस्तेमाल करते रहेंगे तो बाल अपनी जड़ों से कमजोर हो जाएंगे इसलिए बेहतर होगा अगर आप इन पॉपुलर हेयर जैल का इस्तेमाल ना ही करें। अगर आप हेयर जैल यूज करना चाहते हैं तो मैं आपको दो ऑप्शन रिकमेंड करता हूं। 

एक है Arata का हेयर जेल और दूसरा है Fix My Curls का हेयर जेल। ये दोनों ही वन हंड्रेड परसेंट नेचुरल तो नहीं लेकिन बाकी कमर्शियल हेयर जेल से इंग्रीडिएंट्स के मामले में काफी बेहतर हैं। ये दोनों हेयर जेल अलसी के बीज से बने हुए है। 

दोस्तों, अलसी के बीजों को अगर आप उबालें तो वो एक जैली टाइप बन जाता है जिसे हेयर जेल की तरह यूज किया जा सकता है। जहां तक बालों को होल्ड प्रोवाइड करने की बात है तो इन हेयर जेल का होल्ड सही है। बाल हार्ड नहीं होते लेकिन सेट रहते हैं और नेचुरल वेट और शाइनी दिखते हैं। 

इनकी कीमत थोड़ी ज्यादा  तो है लेकिन वो इसलिए क्योंकि इनमे सस्ते इंग्रेडिएंट्स इस्तेमाल नहीं किए हुए हैं । बाकी दोस्तों मेरा निजी अनुभव यह कहता है कि सरसों का तेल अपने आप में एक हेयर जेल का काम करता है। इसका जैल टाइप टेक्सचर नहीं होता लेकिन सरसों का तेल बालों को सेट रखता है और प्राकृतिक चमक देता है। 


5. हेयर वैक्स

Hair wax


अगला बात करते हैं हेयर वैक्स की। कुछ लोग हेयर वैक्स से बालों को सेट करते हैं जिससे बालों में एक मैट फिनिश आती है। आप मार्केट में से हेयर वैक्स खरीदें तो आपको उसमें एक इंग्रेडिएंट मिलेगा वो है माइक्रो क्रिस्टल वैक्स। 

दोस्तों, माइक्रो क्रिस्टल वैक्स एक पेट्रोलियम प्रोडक्ट है जिसका साइड इफेक्ट है हेयर फॉल और उलझे हुए बाल। बाजार में जितने भी  हेयर वैक्स मिलते हैं , भले ही दिखने में वह खुद को नेचुरल प्रोडक्ट कहें लेकिन इनमें मिनरल ऑयल, आर्टिफिशियल खुशबू, कलर जैसा बहुत कचरा डाला होता है। 

अगर मैं आपको एक असली हेयर वैक्स रिकमेंड करूं तो Kraves की हेयर वैक्स एक वन हंड्रेड परसेंट नेचुरल हेयर वैक्स है, जिसे आप ट्राई कर सकते हैं। ये एक ऐसा प्रोडक्ट है जिसका एक एक इंग्रेडिएंट नेचुरल है। बाकी जहां तक इस प्रोडक्ट के इस्तेमाल की बात है तो आप इसके रिव्यू इंटरनेट पर पढ़ सकते हैं। एक बार तो ट्राई करने लायक है। 

खासतौर से जब ये पता हो कि इस हेयर पैक से बाल झड़ेंगे तो नहीं। अच्छी बात ये है कि मूल्य के अनुसार भी ये कमर्शियल हेयर वैक्स की टक्कर की है। दोस्तों, हेयर वैक्स बनाना कोई मुश्किल काम नहीं। मधुमक्खी का मोम, नारियल का तेल और कोई सुगंधित तेल चाहिए होता है बस। आप चाहो तो घर में हेयर वैक्स आप खुद ही 10 मिनट में बनाकर रख सकते हो। इसलिए ये कमर्शियल हेयर वैक्स पर तो अपने पैसों और बालों को बर्बाद न करें। 


4. हेयर सीरम

Hair Serum


दोस्तों, हेयर सीरम का काम होता है बालों के रूखेपन को खत्म करना और एक शाइनी लुक देना। अगर आप देखें तो बिलकुल यही काम हेयर ऑयल भी करता है। लेकिन हेयर सीरम और हेयर ऑयल में ये फर्क होता है कि हेयर सीरम लाइटवेट होता है चिपचिप नहीं करता। 

दोस्तों , देसी हेयर ऑयल की नकारात्मक मार्केटिंग इतनी हुई है कि लोगों ने आजकल हेयर ऑयल लगाना ही बंद कर दिया है, जो ना सिर्फ बालों को शाइन देते हैं बल्कि बालों को अंदर से मजबूत भी बनाते हैं। इसलिए आजकल ऐसे हेयर सीरम चल पड़े हैं जो सिलिकॉन से बनाए जाते हैं। 

दोस्तों, सिलिकॉन एक ऐसा मानव जनित केमिकल है जिसकी कुछ कुछ तेल जैसे ही गुण होतें हैं, लेकिन नुकसान ये है कि सिलिकॉन धोने पर भी बालों से नहीं निकलता जिस वजह से अंदर रहकर बालों को जड़ों से कमजोर करते हैं। आप नोटिस कर लेना कि जो व्यक्ति नियमित रूप से इन हेयर सीरम का इस्तेमाल कर रहा होगा उसके बाल झड़ने लग जाते हैं या दोमुंहे बाल बनने शुरू हो जाते हैं। 

सिलिकॉन बेस्ड हेयर सीरम बालों के लिए नुकसानदायी होता है। ये बात आज त्वचा विशेषज्ञ भी मानते हैं। लेकिन दोस्तों अच्छी बात यह है कि हेयर एक्सपर्ट ने कुछ ऐसे पौंधें भी ढूंढ निकाले हैं जो सरसों और नारियल तेल जितने चिपचिपे और भारी नहीं लेकिन काम हेयर सीरम जैसा ही करते हैं। 

इन प्लांट बेस्ड सीरम कैटेगरी में TNW का ब्लैक सीड हेयर सीरम और Augment का नॉन ग्रीसी  हेयर सीरम भारतीय मार्केट में दो बढ़िया विकल्प  हैं । इन हलके प्लांट बेस्ड सीरम को इस्तेमाल करके आपको शाइनी और सिल्की लुक मिलेगी लेकिन बालों को कोई नुकसान नहीं होगा। इंटरनेट में इनके रिव्यू पढ़ने के बाद आप इन्हे खरीद सकते हो। 


3. दाढ़ी का तेल

Beard oil


अगला बात करते हैं दाढ़ी के तेल की। आजकल बियर्ड ऑइल भी ट्रेंड में है जिस वजह से बहुत से ऐसे ब्रांड आए हैं जो स्पेसिफिक दाढ़ी के प्रोडक्ट बना रहे हैं। इनमें से सबसे पॉपुलर प्रोडक्ट है बियर्ड आयल। अब बियर्ड आयल खरीदने के पीछे आपके दो कारण हो सकते हैं। 

पहला तो यह कि आप दाढ़ी बढ़ाना चाहते हो, लेकिन आ नहीं रही हो। उसके लिए बियर्ड ग्रोथ ऑयल खरीदें। दूसरा यह कि आपकी बियर्ड है और आप उसे ग्रूम रखने के लिए जैसे सर पर तेल लगाते हैं वैसे ही बियर्ड पर लगाएं। 

दोस्तों, अगर आप दाढ़ी बड़ी करना चाहते हैं और उसके लिए एक कारगर बियर्ड ग्रोथ ऑयल खरीदने का सोच रहे हैं तो कैस्टर ऑयल से बढ़िया कुछ भी नहीं। कैस्टर ऑयल जिसे अरंडी का तेल भी कहते हैं ₹60 में किसी भी केमिस्ट की दुकान पर आपको मिल जाएगा और यह हेयर ग्रोथ के लिए बेस्ट है। आप इसकी 2 से 4 बूंदे रोज लगाना शुरू कर दें। आपके नए हेयर फॉलिकल्स फूटने लगेंगे। 

बाकी कैस्टर ऑयल बहुत भारी और चिपचिपा होता है। इसलिए आप चाहें तो इसे डाइल्यूट करने के लिए किसी और ऑयल जैसे तिल के तेल में मिक्स करके रख सकते हैं। इससे सस्ता और अच्छा ग्रोथ ऑयल आपको मार्केट में तो नहीं मिलेगा। 

ज्यादातर ब्रांड दाढ़ी के तेल  के नाम पर आपको मिनरल ऑयल और आर्टिफिशियल खुशबू भरकर जेबे काट रहे हैं। दाढ़ी को ग्रूम करने के लिए अलग से तेल रखना मुझे तो थोड़ा अजीब लगता है। जो सर पर तेल लगाते हैं वही दाढ़ी पर लगा सकते हैं। 

बाकी अगर आप एक असली हंड्रेड परसेंट नेचुरल इंग्रीडिएंट्स वाला बियर्ड आयल खरीदना ही चाहते हैं तो Oraya का बियर्ड ऑयल और The Man Company का बियर्ड ऑयल दो अच्छे विकल्प हैं। यह तेल  प्राकृतिक तो है ही कुछ कमर्शियल बियर्ड ऑयल से सस्ते भी हैं। इंटरनेट पर इनके रिव्यूज भी अच्छे हैं। आप ट्राई कर सकते हैं। 


2. हेयर ड्रायर

Hair Dryer


अगला बात करते हैं हेयर ड्रायर की। अगर आप रोज़ाना अपने बालों को हॉट ब्लो ड्रायर से सुखाते हैं फिर सेट करते हैं तो मान लीजिए कि आप खुद अपने बालों की लाइफ कम कर रहे हैं। दोस्तों, इस बात में तो कोई शक नहीं कि गरमाहट बालों के लिए नुकसानदेह है, फिर चाहे आप बहुत गर्म पानी से सर को धोएं या तेज धूप में नंगे सर जाएं। हॉट ब्लो ड्रायर फ्लैट ड्राइंग करता है। 

मतलब यह कि यह सिर्फ बालों की सतह को नहीं सुखाता बल्कि स्कैल्प से भी सारा मॉइस्चर खींच लेता है जिससे बाल झड़ने लगते हैं और डैंड्रफ होने लग जाता है। तो क्या करें ? अगर महीने में एक दो बार बाल सेट करने के लिए हॉट ब्लो ड्रायर यूज कर लोगे तो चलेगा लेकिन अगर लगातार करना है तो हॉट ब्लो ड्रायर की जगह नॉर्मल ब्लो ड्रायर से बालों को सेट कर सकते हो। 

ज्यादातर हेयर ड्रायर में तापमानको सेट करने का ऑप्शन होता है। नॉर्मल तापमान पर जब हवा गीले बालों पर पड़ती है तो वो सूख भी जाते हैं और सेट भी हो जाते हैं और आपके बालों को कोई नुकसान भी नहीं पहुंचता। 


1. हेयर स्प्रे

Hair Spray


आखिर में बात करते हैं हेयर स्प्रे की। अभी तक हमने जिन भी उत्पादों की चर्चा कि है उनमें से अगर कोई सबसे ज्यादा खतरनाक  है बालों के लिए तो वो है हेयर स्प्रे। इनके रिव्यू भी अगर आप पढ़े तो ऐसे ही होते हैं -"बालों को होल्ड तो अच्छा करता है पर बालों में डैंड्रफ और रूखापन आ गया है"। 

और ऐसा हो भी क्यों नहीं, इनमें एल्कोहल और खुशबू के अलावा और होता भी क्या है। इनका नियमित इस्तेमाल करने से पूरा स्कैल्प डिहाइड्रेट होकर पपडी की तरह बाहर आने लगेगा। हेयर स्प्रे का तो मतलब ही है कि एल्कोहल को स्प्रे बोतल में भर कर बालों पर छिड़क लेना। 

तभी तो हेयर स्प्रे की बोतल पर इतनी ज्यादा वॉर्निंग भी होती है। इस प्रोडक्ट को तो आप कभी भी इस्तेमाल  न करें, वरना एलोपेशिया, सीवियर डैंड्रफ और यहां तक कि एलर्जी भी हो सकती है। 


यह भी पढ़ें :

किडनी खराब होने से पहले देती हैं यह 6 संकेत, समय पर जान लें नहीं तो हो सकता है नुकसान 

यह है परांठे खाने का सही तरीका, अगर इस तरह से खाओगे परांठा तो कभी नहीं पहुंचाएगा नुकसान 

Patanjali के यह 5  जबरदस्त Products जो आपको ज़रूर TRY करने चाहिए

दांतो और मुहं की समस्याओं  के लिए कर ले सिर्फ एक यह उपाय , कभी नहीं होगी मुँह और दांतो की कोई समस्या 


निष्कर्ष 

तो दोस्तों, यह बात तो स्पष्ट है कि अगर आप इस तरह के स्टाइलिंग प्रोडक्ट्स को नियमित रूप से इस्तेमाल करेंगे फिर तो आंवला, करी पत्ता और मेथीदाना भी आपके बालों को बचा नहीं पाएगा। आपके बाल आपकी लुक का एक बहुत ही महत्वपूर्ण हिस्सा हैं इसलिए इनका ध्यान रखें और कभी कभार अगर आप अपने बालों को सेट और एक लुक देना चाहते हैं तो इन नेचुरल हेयर प्रोडक्ट्स को इस्तेमाल कर सकते हैं। 

दोस्तों , अगर आपको लगता है कि ये लेख आपको बालों को नैचुरली शाइनी और मजबूत रखने में हेल्प करता है तो इस लेख को अपने परिवार और अपने दोस्तों से जरूर शेयर करें। अंत तक पढ़ने के लिए धन्यवाद। 

Ethan

About the Author: Ethan is an experienced content writer with over 7 years of experience in crafting engaging and informative articles. His passion for reading and writing spans across various topics, allowing him to produce high-quality content that resonates with a diverse audience. With a keen eye for detail and a commitment to excellence, Ethan consistently delivers top-notch work that exceeds expectations.

एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने