यह हैं खुद के दम पर दौलतमंद बनने की 6 महत्वपूर्ण Straitagies -Financial Education in Hindi

दोस्तों ,बिल गेट्स, मार्क जकरबर्ग और स्टीव जॉब्स क्या आप बता सकते हैं कि इन तीनों में क्या सिमिलैरिटी है ? यह तीनों ही कॉलेज ड्रॉपआउट है। लेकिन इनकी बनाई हुई जो कंपनी है, वह आज तक दुनिया को डॉमिनेट कर रही हैं। आज के दौर में बहुत से स्टूडेंट्स इन्हीं के एग्जाम्पल्स से इंस्पायर होकर कॉलेज से ड्रॉप ले लेते हैं। पर हंड्रेड में से  99% स्टूडेंट्स बाद में अपने इस डिसीजन पर रिग्रेट करते रह जाते हैं। 

एक बहुत ही फेमस ऑथर Jim Rohn के साथ भी कुछ ऐसा ही हुआ था। फर्स्ट ईयर के बाद से ही उन्होंने यह सोचकर कॉलेज से ड्रॉपआउट ले लिया कि वह लाइफ टाइम के लिए नॉलेज इकट्ठा कर चुके हैं और अब उनको कोई जॉब ईजिली मिल जाएगी। 25 साल की उम्र में Jim के पास एक जॉब भी थी और उनकी शादी भी हो चुकी थी। पर उस जॉब की सैलरी उनके महत्वकांशा और जरूरतों को कहीं भी पूरी नहीं कर पा रही थी। 

Financial Education in Hindi


Jim अपना खुद का बिजनेस करना चाहते थे, लेकिन उनके पास कैपिटल के नाम पर कुछ भी नहीं था। तभी सारी उम्मीदें खो चुके Jim की लाइफ में अल शॉफ नाम के एक शख्स ने एंट्री ली, जो एक सक्सेसफुल एंटरप्रेन्योर और एक मोटिवेशनल स्पीकर भी थे। अल ने Jim की कामयाबी को लेकर जज्बा देख कर उनको अपने साथ रख लिया और इस दौरान वह जिम रॉन को कई अलग अलग ऐसी स्ट्रैटिजी सिखाते गए, जिससे उनको अपनी लाइफ में आगे बढ़ते रहने के लिए एक पुश मिलता चला गया। 

पर दुर्भाग्यवश  पाँच साल के बाद एक हार्ट अटैक की वजह से अल शॉफ की डेथ हो गई, लेकिन तब तक जिम ने उनकी कई बातें सीख कर उनके नक्शेकदम पर चलकर 31साल की उम्र में वह एक करोड़पति  बन गए थे। पर कैसे? अल से इस दौरान उन्होंने जितने भी लाइव लेसन सीखे, उन सभी को उन्होंने अपनी बुक सेवन स्ट्रैटिजी ऑफ वेल्थ एंड हैप्पीनेस में डिटेल में डिस्कस किया है। आज के इस आर्टिकल में हम इन्हीं स्ट्रैटिजी के बारे में जानेंगे और यह जानेंगे कि कैसे Jim ने 31 साल की उम्र तक अपने आप को करोड़पति बना लिया था। तो चलिए शुरू करते हैं।  


यह भी पढ़ें :दूसरों के दम पर खुद अमीर बनने के यह 6 secrets आज ही सीख लो

Strategy Number: 1. Unlock the Power of Goals 

दोस्तों , इमैजिन करो कि एक फुटबॉल के ग्राउंड से अगर गोल पोस्ट हटा दिया जाए तो क्या होगा? इससे प्लेयर्स बॉल को एक दूसरे को ही पास करते रहेंगे। पर गेम का कोई रिजल्ट नहीं निकलेगा। सेम बिना गोल की लाइफ भी आप मान सकते हैं की  मीनिंग लेस होती है। एक बहुत ही फेमस डायलॉग है कि अगर आप किसी चीज को शिद्दत से चाहो तो पूरी दुनिया तुम्हें उससे मिलाने की कोशिश में लग जाती है। 

आप अपने आप से सवाल करो कि कौन सी ऐसी चीज है जो आपको मोटिवेट करती है और आप उसे किसी भी कीमत पर हासिल करना चाहते हैं। अगर आपको इसका जवाब मिल जाता है तो वही आपकी लाइफ का गोल है। और अगर वाकई में आप उसमें इंटरेस्टेड हैं या फिर उसमें आपका फ्यूचर काफी ब्राइट है तो आप उसे हासिल करने का रास्ता खुद फाइंड कर लोगे। देखो आपका गोल बड़ा तो होना चाहिए, लेकिन इतना बड़ा भी नहीं होना चाहिए कि उसे अचीव करना नामुमकिन हो। 

ऑथर जिब्रान कहते हैं कि अगर आपको आपका गोल अचीव करते वक्त फेलियर मिल रहा है तो वह फेलियर आपका दर्दभरा होना चाहिए।वह  इतना पेनफुल हो कि हर बार हमें उसे ना कर पाने का बहुत दुख हो, क्योंकि अगर फेल होने पर हमें पेन नहीं होगा तो कहीं न कहीं हम उस फेलियर को ही अपना कंफर्ट जोन बना लेंगे। ऑथर जिम रॉन ने करोड़पति बनने के दौरान यह ऑब्जर्व किया कि लोगों की लाइफ में जो गोल्स होते हैं, वह दो तरह के होते हैं। 

पहले हैं शॉर्ट टर्म गोल्स, जिन्हें हम अगले एक महीने, छह महीने या एक साल में कंप्लीट करना चाहते हैं। जैसे उधारी से बाहर निकलना, किसी टूर पर जाना या फिर अपने लाइफ पार्टनर को फाइंड करना। दूसरे होते हैं लॉन्ग टर्म गोल्स, जिन्हें हम अगले 10 सालों तक तो अचीव करना ही चाहते हैं। जैसे कि अपना घर, एक सक्सेसफुल बिजनेस या फिर रिटायरमेंट फंड। इन दोनों ही टाइप्स के गोल्स की अगर आप पहले ही प्लानिंग कर लेते हो तो फिर आपको एक बहुत बड़ा रीजन मिल जाता है कि क्यों आपको बिना रुके लगातार अपने गोल पर काम करते रहना है। 


यह भी पढ़ें :म्यूचुअल फंड में SIP या LUMPSUM किसका उपयोग करके निवेश करना चाहिए?

Strategy Number: 2.  Always Seek Knowledge 

अमेरिकन फेमस ऑथर और मोटिवेशनल स्पीकर टोनी रॉबिंस जब 17 साल के थे तो वह 40 डॉलर्स पर वीक की सैलरी पर सफाई कर्मचारी का काम करते थे। लेकिन जब एक दिन उनको यह खबर मिली कि कुछ ही दूरी पर जिम रॉन का सेमिनार होने जा रहा है तो जिम के सिर्फ तीन घंटे के सेमिनार को अटैंड करने के लिए टोनी ने 35 डॉलर खर्च कर दिए। 

यह लगभग इतना अमाउंट था जिससे वह पूरे हफ्ते अपना खर्चा चला सकते थे। पर उन्होंने बिना ज्यादा कुछ सोचे यह इन्वेस्टमेंट की और उस सेमिनार से उन्होंने ढेरों बातें सीखीं। टोनी अपने कई इंटरव्यूज में बता चुके हैं कि मेरी कामयाबी का काफी क्रेडिट जिम रॉन को भी जाता है, क्योंकि उन्हीं के सेमिनार्स को अटैंड करके बहुत सी बातें जानकर उन्होंने अपनी लाइफ को बदल लिया। 

देखो, हम कॉलेज की डिग्री पर तो लाखों खर्च कर देते हैं, पर अपनी स्किल्स को इम्प्रूव करने के लिए कुछ पैसे लगाने को हम पैसों की बर्बादी मानते हैं। जिम रॉन कहते हैं कि जितने भी कामयाब लोग होते हैं वह लाइफ टाइम अलग अलग तरह की नॉलेज को गेन करते रहते हैं। फर्क नहीं पड़ता अभी उनकी उम्र या स्टेटस कितना बढ़ चुका है। वह दूसरे कामयाब लोगों से उनके मिस्टेक्स के बारे में जानते हैं, ताकि भविष्य में उन मिस्टेक्स को करने से वह बच जाएं। 

तो सेकंड स्ट्रैटेजी यही है कि अपने पैसे फालतू इधर उधर खर्च करने के बजाय अगर आपको कोई ऐसा सोर्स मिलता है, जो आपको नई स्किल्स सीखने में आपकी हेल्प करे, तो उस पर अपना टाइम और पैसा इन्वेस्ट करने से आप पीछे मत हटो। लेकिन पहले यह पक्का कर लो कि जिस भी चीज को आपने कुछ सीखने के लिए चुना है, वह वाकई में काम की है या नहीं। 


यह भी पढ़ें :कैसे बनते हैं ₹5000 से ₹1.76 करोड़

Strategy Number: 3. Control Your Finance 

अल शॉफ हमेशा जिम से यही कहते थे कि जिम जिंदगी में ज्यादा पैसा और कामयाबी चाहते हो तो पहले अपने आप को उसके काबिल बनाओ। कई लोग पैसा आते ही उसे लग्जरी चीज पर खर्च कर देते हैं, जिसके बाद उनके पास फिर कुछ बचता ही नहीं है। देखो, हर फाइनेंशियल बुक आपको यही एडवाइस देती है कि अपनी 10% इनकम को डिसिप्लिन के साथ इन्वेस्ट करते जाओ। तब जाकर आप एक पर्टिकुलर टाइम पर अमीर बन सकते हो। 

अगर हम इन्वेस्टमेंट ऑप्शंस की बात करें, तो यह स्टॉक मार्केट, म्यूचुअल फंड यहां पर आपको सबसे अच्छा रिटर्न देखने को मिलता है। पर यह जरूरी नहीं है कि आपके लिए आपकी सिचुएशन के हिसाब से बस यही दो ऑप्शंस हैं। नहीं। इसके साथ भी आपको ऑनलाइन, ऑफलाइन में और भी बहुत से ऐसे तरीके मिल जाएंगे, जहां आप अपनी इन्वेस्टिंग कर सकते हैं। 

क्योंकि स्टॉक मार्केट और म्यूचुअल फंड जैसी चीजों में बहुत ही रिस्की गेम हो सकता है, जो कभी भी काफी ऊपर चला जाता है और कभी बिल्कुल डाउन हो जाता है। ऐसे में कब, कितना और कौनसे स्टॉक में इन्वेस्ट किया जाए, यह एक मिडिल क्लास इंसान के लिए डिसाइड कर पाना काफी मुश्किल हो जाता है। 

इसलिए अगर आपकी इनकम 30 हज़ार  या उससे ऊपर तक नहीं है तो स्टॉक मार्केट के साथ साथ भी और भी बहुत से ऑप्शंस हैं, जिसमें आप इन्वेस्ट कर सकते हैं। Jim Rohn कहते हैं कि अगर आपको किसी भी चीज में इन्वेस्ट करना है तो आप 80-20  रूल फॉलो कर सकते हैं। यहां पर आपको अपनी 80% इनकम को टैक्स पे करने में स्पेंड करना है। 

यहाँ टैक्स मतलब सिर्फ गवर्नमेंट टैक्स ही नहीं बल्कि बिजली का बिल, घर का खर्च, फैमली नीड्स, इंश्योर्ड और लायबिलिटीज। और बाकी जो 20% आपके पास बचता है उसे इन्वेस्टिंग के लिए निकालना है। जिसमें 10% इनकम को किसी एसेट में और बाकी 10% को एमरजेंसी फंड को बिल्ड करने में लगाने है। 


यह भी पढ़ें :कम उम्र में अमीर बनना सीखो

Strategy Number: 4. Learn to Change 

किसी महान इंसान ने कहा था कि अगर आप दुनिया की सारी दौलत अमीरों से छीनकर गरीबों में बांट देते हो, फिर भी वह दौलत कुछ ही दिनों में वापस से अमीर लोगों की पॉकेट में चली जाएगी। रीजन है अमीर और कामयाब लोगों का माइंडसेट, जो हमेशा पॉजिटिव और प्रोग्रेसिव होता है। वह आज के काम को आज ही करने पर बिलीव करते हैं और टालमटोल करने से दूरी बनाकर रखते हैं। 

वहीं गरीब लोग हमेशा अपने फेलियर के लिए दूसरों को ब्लेम करते रहते हैं और उनके पास हर सिचुएशन के लिए भर भर के एक्सक्यूज होते हैं। Jim Rohn का कहना है कि अगर आपको अपनी किस्मत को बदलना है तो यह जानने का ट्राय करो कि आज जो भी लोग अपनी लाइफ में कामयाब बन चुके हैं, वह अपने स्टार्टिंग फेज में कितनी ज्यादा मेहनत करते थे। उन लोगों से इंस्पायर होकर आप मेहनत करना सीखो और लाइफ में कुछ चेंज लेकर आओ। 

यह चेंज एक दिन में ला पाना तो पॉसिबल नहीं है इसलिए डेली छोटे छोटे एफर्ट्स लगाओ और खुद को ग्रो करते चले जाओ। जैसे एग्जाम्पल के लिए आप 10:00 बजे उठते हो और अगले दिन उठने के लिए आप 05:00 बजे का अलार्म लगा लेते हो तो शायद दो तीन दिन परेशान होने के बाद आप वापस से उसी 10:00 बजे के रूटीन पर ही आ जाओगे। सबसे पहले आप कुछ दिन 09:00 बजे उठो, फिर साढ़े आठ, फिर आठ और इस तरह से धीरे धीरे अपनी हैबिट में आप चेंज लाते चले जाओ। इससे आपको स्टार्टिंग में ही बहुत ज्यादा एफर्ट लगाने की जरूरत नहीं पड़ेगी और आपकी ग्रोथ भी होती रहेगी। 


Strategy Number :5. Surround Yourself with Winners 

कहते हैं कि आप जिन पाँच लोगों के साथ अपना ज्यादा टाइम बिताते हो, आप उनका एवरेज होते हो। मतलब उनकी अच्छी बुरी बातें आपके अंदर रिफ्लेक्ट होने लगती हैं। अगर वह अपना सारा पैसा लाइब्रेरी में स्पेंड करते हैं तो उन लोगों से इन्फ्लुएंस होकर आप भी ऐसा ही करोगे। 

और वहीं अगर वह अपने ड्रीम्स को पूरा करने के लिए कड़ी मेहनत करते हैं तो तब भी आप उनसे इंस्पायर होकर उन्हीं के जैसी मेहनत करोगे। चाहे फ्रैंडशिप हो या फिर रिलेशनशिप हमेशा ऐसे इंसान को चुनो जो आपको और आपके ड्रीम्स को सपोर्ट करे और आपको सही रास्ता दिखाए। जैसे Jim Rohn ने अपनी लाइफ में अल शॉफ को चुना, जो उनकी लाइफ के बिल्कुल चेंज हो जाने का एक टर्निंग पॉइंट बने। 


यह भी पढ़ें :इन 6 Middle-Class Traps से बचें जो आपको आर्थिक रूप से पीछे धकेल सकते हैं

Strategy Number 6 : Master Time 

देखो हम सभी के पास डेली 24 घंटे ही होते हैं। यह फैसला हमारा होता है कि हम इसको कैसे और कहां पर खर्च करते हैं और हमारा यही फैसला हमारी लाइफ जर्नी में हमारे प्रोग्रेस को कैलकुलेट करता है। मतलब जो लोग इस तरह के आर्टिकल को कंज्यूम करते हैं तो वह अपनी लाइफ को और खुद को बेहतर बनाना चाहते हैं। आप उन लोगों से सोच के मामले में काफी आगे निकल चुके हो जो रील या फिर ऐसे कॉन्टेंट कंज्यूम करना पसंद करते हैं जो उनका सिर्फ मनोरंजन करते रहें। 

इसलिए इसी तरह अपने टाइम को परफेक्टली मैनेज करना सीखो। जो भी काम आपके गोल को अचीव करने के लिए मोस्ट इम्पोर्टेन्ट है उसे पूरी प्रायोरिटी के साथ करो। आपका टाइम आपके लिए बहुत ही प्रेशियस एसेट है और लिमिटेड भी है। तो इसका सही से इस्तेमाल करना सीखो। 


Ethan

About the Author: Ethan is an experienced content writer with over 7 years of experience in crafting engaging and informative articles. His passion for reading and writing spans across various topics, allowing him to produce high-quality content that resonates with a diverse audience. With a keen eye for detail and a commitment to excellence, Ethan consistently delivers top-notch work that exceeds expectations.

एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने