₹20000 SALARY से अमीर बनने का step by step तरीका

सैलरी से अमीर बनना नामुमकिन है। जॉब करने वाला आदमी अपनी सैलरी से कभी अमीर नहीं बन सकता। एक सिंपल सी जॉब करने वाला इंसान कभी अपनी इच्छाओं को पूरा नहीं कर सकता। वह लाइफटाइम अपने बॉस के लिए काम करता रहेगा। आपने न जाने ऐसे स्टेटमेंट्स कितनी बार सुने होंगे। चाहे वो आपके पैरेंट्स हो या फिर आपके रिलेटिव्स। पर क्या हो अगर मैं आपको कहूं कि वो पूरी तरह सही नहीं हैं तो। 

एक 10, 20, 30, 40 हज़ार रुपए कमाने वाला इंसान भी अपनी सैलरी के दम पर एक अच्छी खासी वेल्थ बना सकता है। अब हमें पता है कि हर इंसान की सैलरी एक जैसी नहीं होती। कोई महीने का 10 हज़ार रुपए कमाता है तो कोई 50 हज़ार तो कोई ₹1 लाख। 

GET RICH FROM SALARY


तो आज के इस आर्टिकल में मैं तीन दोस्तों का एग्जांपल लूंगा, जिसमें एक महीने के 20 हज़ार रुपए कमाता है, एक 50 हज़ार रुपए और एक ₹1 लाख। और वो कैसे कैसे अपनी सैलरी को सही तरीके से यूज करके अमीर बन सकते हैं। इसलिए इस आर्टिकल को अंत तक पढ़ियेगा। जिसको पढ़ने के बाद आपको भी आइडिया लगेगा कि आप अपनी सैलरी को कैसे सही से इन्वेस्ट करके अपने लिए वेल्थ बना सकते हो। तो चलिए शुरू करते हैं। 


50:30:20 RULE

तीन दोस्त होते हैं। एक का नाम अक्षत, दूसरे का नाम राहुल और तीसरे का नाम अमित है। तीनों की एज 25 साल है। अक्षत की अभी अभी जॉब लगी है एक सॉफ्टवेयर कंपनी में और वह महीने का ₹20,000 कमाता है। जबकि राहुल और अमित कुछ टाइम पहले से ही एक दूसरी टेक कंपनी में काम कर रहे थे और राहुल महीने का 50 हज़ार रुपए और अमित महीने का ₹1 लाख कमा रहा है। 

अक्षत को 50:30:20 रूल के बारे में पता चलता है और वो अपनी सैलरी का 50 परसेंट अपनी नीड्स में, 30 परसेंट इच्छाओं  में और 20 परसेंट जो होता है यानी कि चार हज़ार रुपए वो इन्वेस्ट करता है। अब हमें पता है कि अक्षत महीने का केवल 20 हज़ार रुपए कमा रहा है तो उसके लिए इतने कम पैसों में बचत कर पाना बहुत ही मुश्किल है। इसलिए वो जैसे तैसे चार हज़ार रुपए बचाता है और उसे इंडेक्स फंड में इन्वेस्ट कर देता है। 

क्योंकि उसे ये तो पता है कि चलो लॉन्ग टर्म में पावर ऑफ कंपाउंडिंग काम करेगी और उसे एक ठीक ठाक वेल्थ बन जाएगी। अब उसकी वेल्थ कितनी बनती है आगे आर्टिकल में देखेंगे। 

चलते हैं राहुल के पास। जैसे कि राहुल की एज भी 25 साल है और वो महीने का 50 हज़ार रुपए कमाता है और वह भी 50:30:20 रूल को फॉलो करता है जिसमें वो अपनी सैलरी का 50 परसेंट जो कि 25 हज़ार रुपए होते हैं उसे अपनी नीड में रखता है। 30 परसेंट जो कि 15 हज़ार रुपए होते हैं उसे वो अपनी इच्छाओं में खर्च करता है और 30 परसेंट जो कि होता है 10 हज़ार रुपए इन्वेस्ट करता है। 

अब अक्षत और राहुल दोनों सेम स्ट्रैटेजी फॉलो कर रहे थे जो कि आप भी कर सकते हो। यानी कि 50:30:20 रूल को फॉलो करना। क्योंकि इतनी सैलरी में आप शायद ही 20 परसेंट से ज्यादा सेव कर पाओगे। क्योंकि आज के टाइम पर महंगाई इतनी हो गई है कि आपके लिए 20 परसेंट भी बचा पाना बहुत ही मुश्किल है। 

अब चलते हैं तीसरे दोस्त के पास जिसका नाम है अमित। अमित ने 20 की उम्र से ही जॉब करना शुरू कर दिया था। हालांकि स्टार्ट में उसकी सैलरी केवल 20,000 थी। वो अपनी स्किल पर काम करता चला गया और 25 की एज में उसकी सैलरी 1 लाख हो चुकी थी। इसलिए उसे पता था कि साल के पांच परसेंट इन्क्रीमेंट से कुछ नहीं होने वाला। तो मुझे साइड बाय साइड कोई न कोई स्किल पर ध्यान देना होगा। 

तो वो वीडियो एडिटिंग सीखने लगा क्योंकि उसे पता था कि इंटरनेट का जमाना है और आजकल हर कोई घर बैठे कॉन्टेन्ट बनाना चाहता है। अब चाहे वो कंटेंट यूट्यूब पर डाले या फिर इंस्टाग्राम पर, हर किसी को कंटेंट बनाने का शौक चढ़ा हुआ है। अब उसको ये भी पता था कि हर किसी को वीडियो एडिटर की जरूरत तो पडेगी , तो वो वीकेंड पर काम करके इस स्किल को सीखने लगा और कुछ सालों में वो एक बहुत ही अच्छा वीडियो एडिटर बन चुका था। 

वो 25 की एज में अपनी फुलटाइम जॉब से और पार्ट टाइम वीडियो एडिटिंग से मिलाकर ₹1 लाख महीना कमाने लग गया था। अब अमित भी वही 50:30:20 रूल को यूज कर रहा था वो भी अपनी इनकम का 20 परसेंट जो कि  20 हज़ार रुपए होते हैं से इनवेस्ट करता है। अब हम तीनों की इन्वेस्टमेंट को इस चार्ट में देख सकते हैं। 

Investment Chart 1


जहां अक्षत महीने का चार हज़ार रुपए इन्वेस्ट करता है और उसे 13 पर्सेंट का रिटर्न मिलता है और वो अगले 15 सालों के लिए यानी कि 40 की उम्र तक इन्वेस्ट करता है तो 40 की एज में उसके पास ₹22,22725 हो जाएंगे। वहीं राहुल भी 25 की एज में इन्वेस्ट करता है। जैसे कि उसकी सैलरी 50 हज़ार है तो वह सैलरी का 20 परसेंट, यानी कि जो 10 हज़ार रुपए उसे वो 40 की उम्र तक इन्वेस्ट करता है और उसकी वेल्थ ₹55,56,813 हो जाएगी। 

वहीं अमित अपनी सैलरी का 20 परसेंट इन्वेस्ट करता है जो कि होता है 20 हज़ार रुपए उसे वो भी अगले 15 सालों के लिए इन्वेस्ट करता है तो 40 की एज में उसकी वेल्थ ₹1,11,13626 हो जाएगी। अभी हमने इनफ्लेशन और सैलरी हाइक जैसी चीज़ों का इफ़ेक्ट नहीं लिया है और अगर इन्फ्लेशन बढेगा तो उस अकॉर्डिंग इन सबकी इनकम भी बढेगी। 

और हो सकता है ये लोग और भी ज्यादा इन्वेस्ट करने लगे। पर अभी के लिए इन चीज़ों को कांस्टेंट मानकर हम डेटा पर ध्यान देते हैं। अब हमें यहां पर तीनों सैलरी क्लास को देखा तो हमें किन किन बातों पर ध्यान देना है उसे देखते हैं। 


1. Grow Your Income

अब जैसे कि तीनों ही सेम रूल को फॉलो कर रहे हैं। जिसमें तीनों अपनी सैलरी का 20 परसेंट इन्वेस्ट कर रहे थे। क्योंकि इससे ज्यादा सेव कर पाना थोडा मुश्किल भी है। बट एक चीज जो अमित ने सबसे अच्छी की उसने अपनी इनकम को बढाने पर ध्यान दिया। 

अब जहां अक्षत महीने का केवल 20 हज़ार रुपए कमा रहा है तो मुश्किल से चार हज़ार रुपए ही सेव कर पाता और उसे इन्वेस्ट कर पाता तो भी 15 साल बाद उसकी वेल्थ केवल 22 लाख ही बन पाती है। अमित महीने का ₹1 लाख कमा रहा है और उसने अपनी स्किल को ग्रो करने पर ध्यान दिया जिस वजह से उसकी इनकम इतनी बढ गई जिससे उसकी इनकम इतनी बढ़ गई कि उसके केवल 20 परसेंट इन्वेस्ट करने के बावजूद भी वह औसत का लगभग पांच गुना ज्यादा वेल्थ बना पाया जो कि लगभग ₹1.1 करोड़ है । 

अब अगर आपकी इनकम 15 से 25 हज़ार रुपए के बीच में है तो मेरा मानना है कि आपको जल्दी से जल्दी अपनी इनकम को बढाने पर जोर देना चाहिए क्योंकि ₹4000 - ₹5,000 इन्वेस्टमेंट से आप इतनी ज्यादा वेल्थ तो नहीं बना पाओगे, चाहे आप कितना ही लंबे समय तक इन्वेस्ट क्यों न करो। और हम सबको पता है कि 30 40 साल इन्वेस्ट करना बहुत ही मुश्किल है। इसलिए आप जितना ज्यादा  इनकम को बढ़ाओगे आप उतनी जल्दी अच्छी वेल्थ क्रिएट कर सकते हो। 

मान लो अक्षत जिसकी सैलरी 20 हज़ार रुपए महीना है वो अपनी इनकम को बढाकर 30 हज़ार रुपए कर लेता है तो उसकी वेल्थ में कितना डिफरेंस आ सकता है चलिए देखते हैं। मान लीजिये कि अक्षत 30 हज़ार रुपए कमा रहा है तो वो 20% इन्वेस्ट करेगा जो कि होगा छह हज़ार रुपए। तो 40 की एज तक उसका रिटर्न होगा लगभग 33,34,008  हज़ार रुपए। 

यानी कि जहां पहले उसे ₹22 लाख मिल रहे थे 40 की एज तक, अब उसकी वेल्थ पहले के मुकाबले ₹11 लाख ज्यादा हो जाएगी। तो अगर आप अपनी इनकम को बढाने पर ध्यान दोगे तो वो आगे जाकर आपकी वेल्थ में अच्छा खासा फर्क ला सकती है और खासकर जब आप जॉब कर रहे हो तो इनवेस्टिंग हमारा मेन मोटिव रहता नहीं है। और  बैंक में पडा पडा हमारा पैसा इन्फ्लेशन की वजह से वैसे भी कम होता चला जाता है। उससे बेहतर है कि हम ऐसी जगह पर इन्वेस्ट करें, जहां हमें ठीक ठाक सा रिटर्न मिल जाए। इसलिए अगर आपकी इनकम अभी कम है तो बेहतर है कि आप इनकम को बढाने पर ध्यान दें। 


यह भी पढ़ें : 

अपना cash bank में रखने की जगह इन 5 Assets में लगाओ


2. Live Below Your Means

आज की लाइफ में हर चीज बहुत ही tempting है। एक इंसान के पास जब अपनी पहली सैलरी आती है तो उसके मन में सबसे पहले एक ही खयाल आता है कि पहली सैलरी को कैसे खर्च किया जाए। कौन सा मोबाइल फोन खरीदा जाए। कोई ये नहीं सोचता कि सैलरी को कैसे इनवेस्ट किया जाए। 

अब जाहिर सी बात है कि हमने इतने साल सैलरी का वेट किया, मेहनत की, एक स्मार्टफोन या एक बाइक लेना तो बनता है। चलो इतना तो ठीक है पर दिक्कत तो तब आती है जब ये चीज खरीदने की चाहत कभी खत्म ही नहीं होती और ये बिलो योर मीन्स कब और मींस में बदल जाता है पता ही नहीं चलता। 

Below your means का मतलब है कि आप अपनी इच्छाओं को कंट्रोल रखकर समझदारी से खर्च करते हो। ये रूल हमें ये बताता है कि हमें अपने सारे खर्चे चाहे वो जरूरी खर्चे हो या फिर अपनी इच्छाएं। ये सारे खर्चे अपनी सैलरी के 80 परसेंट से ज्यादा नहीं होने चाहिए और किसी भी हालत में आपको 20 परसेंट तो सेव इन्वेस्ट करना ही है। 

मान लो हमारी स्टोरी का अमित जो कि महीने का ₹1 लाख कमा रहा था अगर वो अपनी इच्छाओं पर काबू न पाता और चला जाता नया आईफोन लेने, महंगी गाडी लेने तो क्या वो ₹20,000 महीने का सेव और इन्वेस्ट कर पाता क्या? और यही अगर वो बिलो योर मीन्स का कॉन्सेप्ट यूज कर और 20 परसेंट की जगह 40 परसेंट सेव करके उसे इन्वेस्ट करता है तो उसकी वेल्थ कितनी हो सकती है चलिए देखते हैं। 

investment chart 2


जैसे कि चार्ट में देख सकते हो। अगर अमित 20 हज़ार की जगह महीने का ₹40,000 निवेश करता तो 15 साल बाद उसकी वेल्थ एक 10000000 की जगह दो 2 करोड़ हो जायेगी। जस्ट डबल। तो अगर आप अपनी सैलरी को फिजूल खर्चों में न उड़ाओ और कुछ समय के लिए सिम्पल लाइफ जियो तो आप कुछ ही सालों में रिटायर होने लायक वेल्थ बना लोगे। वो कहते हैं न it's not about your paycheck, it's how you manage it। 

यानी कि ये फर्क नहीं पड़ता कि आपकी इनकम कितनी है, बट ये फर्क जरूर पड़ता है कि आप उसे मैनेज कैसे करते हो। आपकी सैलरी चाहे लाखों में क्यों न हो, अगर आप बिना सोचे समझे उसे उडाए जाओगे तो आप कभी भी वेल्थ बना नहीं पाओगे और rat race में फंसे रहोगे। 


3. How to Grow and Invest Your Money 

अब हमें पता है कि हमें पहले अपनी इनकम को ग्रो करना है। साथ ही साथ इनवेस्टिंग पर भी ध्यान देना है। अगर आप जॉब करते हो तो आप कोई भी स्किल को साइड बाय साइड सीख कर ऐसे फ्रीलांसर काम कर सकते हो। जैसे कि वीडियो एडिटिंग, वेब डिजाइनिंग, स्क्रिप्ट राइटिंग। बहुत सारे ऐसे ऑनलाइन काम है जिनसे आप अच्छी खासी साइड इनकम जनरेट कर सकते हो। 

मैंने भी अपनी blogging ऐसे ही शुरू कि थी। पहले मैं जॉब करता था और वीकेंड पर काम किया करता था और जब धीरे धीरे मेरी site  ग्रो होने लगी , मेरी अच्छी खासी इनकम होने लगी तो फिर मैंने अपनी फुलटाइम जॉब को क्विट किया और आज मैं फुल blogging कर रहा हूं। 

तो हो सकता है कि स्टार्ट में आपको लगे कि आपका साइड बिजनेस है। उसे आप कितना ही पैसा कमा लोगे। अगर आप सही से मेहनत करोगे तो आपको सक्सेस मिल ही जाएगी। और रही बात पैसों को इनवेस्ट करने की तो अगर आप फुल टाइम इन्वेस्टिंग में नहीं दे सकते या फिर आपके पास इतना टाइम नहीं है कि आप इन्वेस्टिंग के बारे में डीपली जानो तो बेहतर है आप इंडेक्स फण्ड से शुरुआत करें, क्योंकि वहां आपको दिमाग लगाने की जरूरत नहीं है और आप धीरे धीरे एसआईपी के थ्रू अपना अमाउंट बढ़ा सकते हैं। 

पहले आप अपनी 10 परसेंट सैलरी उसमें इनवेस्ट कीजिए और मार्केट को समझिए। जब आपको कॉन्फिडेंस आने लगे तो आप अपनी सैलरी का 20 परसेंट या उससे भी ज्यादा इनवेस्ट कर सकते हैं। क्योंकि इसमें न तो आपको कोई एक्स्ट्रा टाइम देना पड़ेगा और आपका पैसा बैंक में पडी एफडी से तो ज्यादा रिटर्न दे ही देगा। 


Conclusion 

तो अब चलते हैं इस आर्टिकल  के कंक्लूजन पर। हमने ये जाना कि इंसान की सैलरी अलग अलग होती है। कोई महीने का 20 हज़ार रुपए कमाता है तो कोई 50 हज़ार रुपए। अब अगर आप महीने का 15 से 25 हज़ार रुपए कमाते हो तो सबसे पहले आपको जो चीज करनी है वो है आपको अपनी इनकम को बढाने पर जोर देना है। 

आप कोई भी स्किल सीख सकते हो और ऑनलाइन आजकल ढेर सारे काम आ चुके हैं जिनके थ्रू आप महीने का अच्छा खासा पैसा कमा सकते हो। कम सैलरी में आप छोटे मोटे अमाउंट से इन्वेस्टिंग स्टार्ट कर सकते हो तो उससे आपकी बहुत अच्छी खासी वेल्थ क्रिएट हो जाएगी, ऐसा खयाल मत रखिएगा। 

आप जब महीने के 40- ₹50,000 कमाने स्टार्ट करोगे तब आपको अगले 10 15 सालों में एक ठीक ठाक सी वेल्थ मिल सकती है। इन सबके बीच जिस चीज में आपको ध्यान रखना है, वह पैसों को सही से मैनेज करना और फिजूल खर्चों पर रोक लगाना। हम सब चाहते हैं कि हमारे पास अच्छा स्मार्टफोन, अच्छी गाडिय़ों, बड़ा घर के लिए सब जरूरी है पर समझदारी से आपको स्पेंड करना है और इसके लिए आप 50:30:20 रूल का भी यूज कर सकते हो जो काफी लोग करते भी हैं और बजटिंग का बेस रूल भी इसे बताया जाता है। 

यह रूल काफी लोगों के लिए काम किया है तो पॉसिबल है कि आपके लिए भी जरूर काम करेगा और फिर आपको अपने पैसों को सही से काम पर लगाना है और जब आप ये सब करोगे तब आप एक डीसेंट सैलरी इनकम से भी अच्छी खासी वेल्थ क्रिएट करके सुकून की लाइफ एन्जॉय कर पाओगे।

Ethan

About the Author: Ethan is an experienced content writer with over 7 years of experience in crafting engaging and informative articles. His passion for reading and writing spans across various topics, allowing him to produce high-quality content that resonates with a diverse audience. With a keen eye for detail and a commitment to excellence, Ethan consistently delivers top-notch work that exceeds expectations.

एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने