यह हैं दुनिया के 10 सर्वश्रेष्ट विश्वविध्यालय| Amazing Facts In Hindi

क्या आप दुनिया के 10 सर्वश्रेष्ठ विश्वविद्यालयों के बारे में जानते  हैं? दोस्तों , इस लेख में, हम आपके साथ शिक्षा और अनुसंधान की गुणवत्ता के आधार पर दुनिया के शीर्ष 10 विश्वविद्यालयों को साझा करेंगे। यह दुनिया की टॉप 10  यूनिवर्सिटीज हैं , जिनमें से कुछ में तो खुद अल्बर्ट आइंस्टाइन और स्टीफन हॉकिंग ने भी पढ़ाई की है।

दुनिया के शीर्ष विश्वविद्यालयों से, हम आपको अध्ययन और सीखने के लिए सर्वोत्तम स्थानों की एक विस्तृत सूची देंगे। हार्वर्ड और येल से लेकर कैम्ब्रिज और ऑक्सफोर्ड तक, ये ऐसे विश्वविद्यालय हैं जो आपकी शिक्षा को वास्तव में विश्व स्तरीय बना देते हैं। 

तो चाहे आप दुनिया के सर्वश्रेष्ठ विश्वविद्यालयों की तलाश में हों या सिर्फ सर्वोत्तम विश्वविद्यालयों की जानकारी रखना चाहते हैं तो यह लेख आपके लिए है!

Top 10 Universities Of The World


नंबर 10.  यूनिवर्सिटी ऑफ शिकागो (University of Chicago)

दोस्तो, हो न हो, आपने कभी न कभी यूनिवर्सिटी ऑफ शिकागो के बारे में जरूर सुना होगा, क्योंकि पूरी दुनिया में मौजूद लाखों यूनिवर्सिटीज होने के बाद भी यह 10वें स्थान पर है। 

आपको बता दें कि यह एक प्राइवेट रिसर्च यूनिवर्सिटी है जिसकी शुरुआत आज से करीब 130 साल पहले यानी 1890 में यूनाइटेड स्टेट्स के शिकागो में जॉन. डी. रॉकफेलर के द्वारा की गई थी। 

यह एक प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी है जिसमें लॉ स्कूल और बूथ स्कूल एंड बिजनेस के साथ साथ कई और भी स्कूल हैं जो इस यूनिवर्सिटी को खास बनाते हैं। इतना ही नहीं बल्कि इस यूनिवर्सिटी को एक अंडरग्रेजुएट कॉलेज और ग्रेजुएट रिसर्च डिवीजन का कंपोजीशन कर बनाया गया था। 

यूनिवर्सिटी ऑफ शिकागो के फैकल्टी, स्टाफ और स्टूडेंट्स को कुल मिलाकर 99 नोबेल लॉरेटस  हैं। वहीं इस यूनिवर्सिटी में 29 बिलेनियर्स और आठ ओलंपिक मेडल के साथ साथ कई बड़ी चीजें शामिल हैं, जिससे यह यूनिवर्सिटी खास बन जाती है। 


University of Chicago


नंबर 9.  ईटीएच ज्यूरिख (ETH Zurich)

इस अगली यूनिवर्सिटी का इतिहास जानने के बाद आप यही कहेंगे कि काश हमारे भारत के अंदर भी इसी तरह की यूनिवर्सिटी होती। 

खैर , मैं यहां बात कर रहा हूं ईटीएच ज्यूरिख यूनिवर्सिटी की, जिसका पूरा नाम Eidgenössische Technische Hochschule Zürich है, जिसे इंग्लिश में फेडरल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, ज्यूरिख के नाम से भी जाना जाता है। 

इस यूनिवर्सिटी की शुरुआत स्विस फेडरल गवर्नमेंट ने साल 1854 में की थी और इसका सिर्फ एक ही उद्देश्य था कि वहां की सरकार इस यूनिवर्सिटी से एजुकेटेड इंजीनियर्स, साइंटिस्ट और मैथमेटिक्स चाहती थी। 

इस कारण से इस यूनिवर्सिटी में 16 डिपार्टमेंट बनाए गए थे और शायद यही कारण है कि इस यूनिवर्सिटी की इंटरनैशनल रैंकिंग आज के समय पूरी दुनिया में नौंवे स्थान पर है। 

अगर 2021 के आंकड़ों की माने तो पता चलता है कि साल 2021  में इस यूनिवर्सिटी में 120 देशों के करीब 24500 स्टूडेंट्स एनरोल किए गए थे और इसके पीछे का कारण है इसकी अचीवमेंट और पॉपुलैरिटी। 

क्योंकि ईटीएच ज्यूरिख के पास 22 नोबेल लॉरेट और तीन फ्रेंच प्राइज विनर्स भी हैं, जिसमें से एक महान वैज्ञानिक अल्बर्ट आइंस्टाइन भी हैं। 


ETH Zurich


नंबर 8. यूसीएल (UCL)

इस यूनिवर्सिटी में हुई है दुनिया बदलने वाली खोजें। यूसीएल यानी कि यूनिवर्सिटी कॉलेज ऑफ लंदन एक पब्लिक रिसर्च यूनिवर्सिटी है जो इंग्लैंड के लंदन में मौजूद है और इस यूनिवर्सिटी को साल 1826 में जर्मी बेंथम के द्वारा स्थापित किया गया था। 

आपको ये बात जानकर हैरानी होगी कि टोटल एनरोलमेंट के हिसाब से देखा जाए तो यह यूके की दूसरी सबसे बड़ी यूनिवर्सिटी है और वहीं पोस्ट ग्रैजुएट एनरोलमेंट से देखा जाए तो फिर तो इससे बड़ी यूनिवर्सिटी पुरे यूनाइटेड किंगडम में कोई है ही नहीं। 

यही नहीं बल्कि यूनिवर्सिटी कॉलेज ऑफ़ लंदन में 100 से भी ज्यादा डिपार्टमेंट है और इसके कई सारे कैंपस भी हैं। लेकिन इसका मेन कैंपस सेंट्रल लंदन के ब्लूम्सबरी में है, जिसका करीब चार बार नाम बदला जा चुका है। 

इसमें पढ़े हुए काफी सारे स्टूडेंट्स तो आज के समय किसी देश की लगाम संभाले हुए हैं और उन्हीं में से एक हैं जापान के पहले प्राइम मिनिस्टर। साथ ही यही वो जगह है जहां से नोबेल गैस, हार्मोन और वैक्यूम ट्यूब की खोज भी की गई थी। 


University College London


नंबर 7. इम्पीरियल कॉलेज लंदन (Imperial College London)

जब भारत के स्टूडेंट्स भारत की सरकारी यूनिवर्सिटीज को छोड़कर लंदन में पढ़ने जाने की बात करें तो आप समझ लेना कि वो इंपीरियल कॉलेज लंदन में जाने की बात कर रहे हैं। 

इस यूनिवर्सिटी की स्थापना 1907 में की गई थी जिसमें 15200 स्टूडेंट्स और आठ हज़ार स्टाफ मेंबर्स हैं। इम्पीरियल कॉलेज में भी बाकी सभी टॉप कॉलेजेज की तरह ही कई सारे महान लोग पड़े हैं और जिन्होंने दुनिया भर के अंदर कई अलग अलग फील्ड्स में अपना नाम बनाया है । 

इतना ही नहीं इस कॉलेज के भी काफी सारे कैंपस हैं जिसका मेन कैंपस साउथ केंसिंग्टन में है। वहीं दूसरा कैंपस व्हाइट सिटी में है। 

साथ ही यहां साइंस, टेक्नोलॉजी, इंजीनियरिंग, मेडिसिन और बिजनेस फील्ड की बेहतरीन पढ़ाई होती है। जिससे आप स्वयं ही अंदाजा लगा सकते हैं कि आखिर क्यों यह दुनिया की टॉप यूनिवर्सिटीज में शामिल हैं। 


Imperial College London


नंबर 7. कैलिफोर्निया इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (California Institute of Technology)

कैलिफोर्निया इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी एक प्राइवेट रिसर्च यूनिवर्सिटी है, जिसकी स्थापना 23 सितंबर 1891 में की गई थी और जिसके फाउंडर अमोस जी थ्रोप थे। 

दोस्तों अमेरिका के कैलिफोर्निया के पासाडेना में मौजूद इस यूनिवर्सिटी में मॉडर्न साइंस से जुड़ी हुई कई रिसर्च अक्सर होती रहती हैं और पहले भी कई हो चुकी हैं। 

यानी कि इसका इतिहास काफी ज्यादा शानदार रहा है और इसके इतिहास के कारण ही आज ये दुनिया की टॉप टेन यूनिवर्सिटीज में शामिल हैं। आपको जानकर आश्चर्य होगा कि इस यूनिवर्सिटी का जो मुख्य कैंपस है वो भी सिटी में करीब 124 एकड़ में बना हुआ है। 

मगर इतनी ज्यादा बड़ी  होने के बाद भी इस यूनिवर्सिटी का एक्सेप्टेंस रेट सिर्फ और सिर्फ तीन परसेंट है। मतलब इस यूनिवर्सिटी में बहुत ही कम ब्रिलियेंट स्टूडेंट्स एडमिशन पा पाते हैं। 


California Institute of Technology


नंबर 5. हार्वर्ड यूनिवर्सिटी (Harvard University)

भारत के रतन टाटा जी, अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा भी पड़े हैं इस यूनिवर्सिटी से और फेसबुक के फाउंडर ने तो इस यूनिवर्सिटी को छोड़ दिया था।  

दोस्तों , मैं बात कर रहा हूं हार्वर्ड यूनिवर्सिटी के बारे में, जिसकी स्थापना आज से करीब 383 साल पहले यानी वर्ष 1636 में हुई थी। और कुछ दिनों पहले हुए एक सर्वे में एक बात सामने निकलकर आई है ,जिसके अनुसार दुनिया में सबसे ज्यादा अरबपति अमेरिका की हार्वर्ड यूनिवर्सिटी ने दिए हैं। 

इस यूनिवर्सिटी की स्थापना से लेकर अब तक की बात की जाए तो यहां के हर छात्र की औसत संपत्ति करीब 2487  करोड़ रूपये है। 

यह भी पढ़ें : चीन में खाए जाएँ वाले 10 सबसे घिनौने भोजन जिनको जान के आप उलटी कर देंगे 


हालांकि निजी तौर पर बात की जाए तो हार्वर्ड से पढ़ने वाले ज्यादातर छात्रों ने 217 करोड़ रूपये की कमाई की है और यही नहीं करीब 13650 ऐसे लोग रहे हैं जो हार्वर्ड से पढ़ने के बाद अरबपति बने। और इन सभी की संपत्ति को जोड़ कर देखा जाए तो ये करीब 334 लाख करोड़ रुपए है। 

अब तो आप खुद ही सोच सकते हैं कि आखिर क्यों हार्वर्ड यूनिवर्सिटी को दुनिया की टॉप यूनिवर्सिटीज में से एक माना जाता है। 


Harvard University


नंबर 4. यूनिवर्सिटी ऑफ ऑक्सफर्ड (University of Oxford)

भारत में जिस कोविशिल्ड  वैक्सीन ने इतने सारे लोगों की जान बचाई, उसका निर्माण इसी यूनिवर्सिटी में हुआ था। और तो और भारत की इकलौती महिला प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी जी ने भी इसी यूनिवर्सिटी से पढ़ाई करी थी। 

दोस्तों यूनिवर्सिटी ऑफ ऑक्सफर्ड कितना बड़ा नाम है शायद मुझे आपको ये बात बताने की जरूरत नहीं है क्योंकि ये दुनिया की सबसे बड़ी और सबसे सक्सेसफुल यूनिवर्सिटीज में से एक है। 

असल में इंग्लैंड के ऑक्सफर्ड में मौजूद एक कॉलेजिएट रिसर्च यूनिवर्सिटी है जो आज से करीब 927 साल से भी ज्यादा पुरानी है। यानी इसके बारे में ऐसा माना जाता है कि इस यूनिवर्सिटी को 1096  में बनाया गया था, जो आज भी पूरी दुनिया की सबसे पुरानी इंग्लिश स्पीकिंग यूनिवर्सिटी है। 

इस यूनिवर्सिटी में भी महारथियों की कोई कमी नहीं है। आप जान लें कि इस यूनिवर्सिटी में 73 नोबेल प्राइज, चार फील्ड मेडलिस्ट, छह ट्रनिंग अवॉर्ड और करीब 160 ओलंपिक मेडल भी हैं। 


University of Oxford


नंबर 3. स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी (Stanford University)

चलिए इसके बाद अब हम बात करते हैं एक और जानी पहचानी यूनिवर्सिटी के बारे में। मैं यहां बात कर रहा हूं स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी के बारे में जो कि कैलिफोर्निया के स्टैनफोर्ड में मौजूद एक बड़ी प्राइवेट रिसर्च यूनिवर्सिटी है। 

इस यूनिवर्सिटी में गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई, भारत के जाने माने बिजनेसमैन मुकेश अंबानी ने भी पढ़ाई करी है। जिससे आप इसके एजुकेशन क्वालिटी का अंदाजा लगा ही सकते हैं। 

इसका कैंपस करीब 8180 एकड़ में फैला हुआ है जो यूनाइटेड स्टेट्स की सबसे बड़ी यूनिवर्सिटी है। बावजूद इसके इसका एक्सेप्टेंस रेट 3.9 पर्सेंट है। 

शायद आपको मालूम हो कि इस यूनिवर्सिटी के पास 131 एनसीएए टीम चैंपियनशिप और 396 ओलंपिक मेडल भी हैं, जिनमें से 150 गोल्ड और 79 सिल्वर हैं । 

अब तो आप खुद ही अंदाजा लगा सकते हैं कि आखिर क्यों यह यूनिवर्सिटी इतनी ज्यादा पॉपुलर है। 


Stanford University


नंबर 2. यूनिवर्सिटी ऑफ केम्ब्रिज (University of Cambridge)

दोस्तों जहां दुनिया की सबसे अच्छी यूनिवर्सिटीस  के बारे में बात चल रही है और वहां यूनिवर्सिटी ऑफ कैम्ब्रिज का नाम ना आए, ऐसा तो हो ही नहीं सकता। 

यूनिवर्सिटी ऑफ कैम्ब्रिज एक पब्लिक कॉलेजिएट रिसर्च यूनिवर्सिटी है जो इंग्लैंड के कैम्ब्रिज में मौजूद है। इसके बारे में ऐसा कहा जाता है कि इसे आज से 800 साल पहले यानी कि 1209  में स्थापित किया गया था। 

इसके साथ ही यह इंग्लिश स्पीकिंग कंट्री की दूसरी सबसे बड़ी यूनिवर्सिटी है, जिसमें एक ऑटोनॉमस कॉन्स्टिट्यूशन कॉलेज है और 150 एकेडेमिक डिपार्टमेंट है। 

अब आप  स्वयं ही अंदाजा लगा सकते हैं कि ये कितनी बड़ी यूनिवर्सिटी होगी। अगर कैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी की लेगेसी की बात करें तो इस यूनिवर्सिटी से कई सारे महान लोगों ने एजुकेशन को प्राप्त किया है। 

आपको जानकर आश्चर्य होगा कि इस यूनिवर्सिटी में महान साइंटिस्ट जैसे न्यूटन और स्टीफन हॉकिंग, महान राइटर्स जैसे जॉन मिल्टन और सिल्विया, महान पॉलिटिकल लीडर्स जैसे जॉन मेनार्ड केन्स और तो और फेमस एक्टर्स जैसे एमा थॉमसन ने अपनी ग्रेजुएशन पूरी की जो इसे दुनिया की लीडिंग यूनिवर्सिटीज में से एक बना देता है। 


University of Cambridge


नंबर 1. एमआईटी (MIT)

हिंसा और आतंकवादियों के हमले को झेल रहे इजराइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू का नाम भी जुड़ा है।इस यूनिवर्सिटी के साथ। 

एमआईटी का पूरा नाम है मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी जो कि एक प्राइवेट इंस्टीट्यूशन है, जिसकी स्थापना साल 1861 में हुई थी। 

ये इंस्टीट्यूशन यूएसए के मैसाचुसेट्स स्टेट की कैम्ब्रिज सिटी में मौजूद है, जिसमें स्टूडेंट्स को टेक्नोलॉजी के साथ हर तरह से बेहतर बनाने के लिए तैयार किया जाता है। 

आपकी जानकारी के लिए मैं बता दूं कि इसके कैंपस में स्टूडेंट का ओवरऑल डेवलपमेंट पर ध्यान दिया जाता है और यहां पर स्टूडेंट्स को कई तरह के करिकुलर एक्टिविटीज जैसे कि आउटिंग, क्लब, डिबेट टीम, लोकल ब्रॉडकास्टिंग स्टेशन, स्टूडेंट एसोसिएशन, डांस, चेस और गेम्स को बेहतरीन बनाने का मौका मिलता है। 

यूं तो वर्ल्ड में बहुत सारी यूनिवर्सिटीज हैं जिन्हें बेहतरीन माना जाता है, लेकिन साइंस एंड इंजीनियरिंग के लिए एमआईटी सबसे बेस्ट है। इसलिए बहुत सारे स्टूडेंट्स आईआईटी और नीट क्लियर करने के बाद एमआईटी करने जाते हैं, क्योंकि वहां पर स्टूडेंट्स अपने आप को बहुत ज्यादा एक्सप्लोर कर पाते हैं। 


MIT


निष्कर्ष 

दोस्तों आपका क्या मानना है अगर हमारे देश की तक्षिला और नालंदा यूनिवर्सिटीज को मुग़ल आक्रांताओ द्वारा नष्ट नहीं किया गया होता , तो क्या आज वो दोनों दुनिया की सर्वश्रेष्ठ यूनिवर्सिटीज होती ,कमेंट करके हमें जरूर बताइयेगा। 


Ethan

About the Author: Ethan is an experienced content writer with over 7 years of experience in crafting engaging and informative articles. His passion for reading and writing spans across various topics, allowing him to produce high-quality content that resonates with a diverse audience. With a keen eye for detail and a commitment to excellence, Ethan consistently delivers top-notch work that exceeds expectations.

एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने